BPO Full Form in Hindi | बीपीओ क्या है ? बीपीओ के बारे में जानकारी

बीपीओ के बारे में जानकारी | BPO Full Form in Hindi

नमस्ते दोस्तों आपका हमारी इस पोस्ट BPO Full Form in Hindi पर स्वागत है जिसमे हम आपको बीपीओ के बारे में जानकारी देंगे

आज के इस समय में यदि कोई जॉब करना चाहता है या फिर बिजनस को आगे बढ़ाना चाहता हो तो उसे बीपीओ के बारे में पता होना चाहिए

अक्सर देखा गया है की जॉब के Interview में कभी कभी ऐसे सवाल आ जाते है जैसे की बीपीओ की फूल फॉर्म क्या है तथा बीपीओ क्या है तब इन सवालों का जवाब हमारे पास नहीं होता

जिससे एक बुरा इम्प्रेशन पड़ता है लेकिन आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है हमने इस लेख में बीपीओ के बारे में सारी जानकारी दी है

जिससे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा तो चलिए सबसे पहले जानते है की बीपीओ की फूल फॉर्म क्या है

BPO की फूल फॉर्म क्या है | BPO Full Form in Hindi

बीपीओ की फूल फॉर्म Business Process outsourcing” होती है बीपीओ का अर्थ हिंदी में व्यापार प्रक्रिया का आउटसोर्सिंग होता है तो चलिए अब आपको बताते है की बीपीओ कैसे काम करता है और ये क्या है –

बीपीओ क्या है –

BPO एक छोटा स संगठन होता है जिसकी मदद से कुछ बड़ी कंपनिया अपने कामों को पूरा करती है बड़ी कंपनियों के बहुत से ऐसे काम होते है

जिनको करने में उनका बहुत खर्चा लगता है जैसे की Customer service and Tele- caller इन सभी कामों के लिए कंपनियों को अलग से दफ्तर खोलना पड़ता है और स्टाफ की अलग से जरूरत होती है

इसके अलावा इन्हे मैनेज करने में भी बहुत दिक्कत आती है इसलिए कंपनिया बीपीओ की मदद लेती है बीपीओ इन कंपनियों के लिए ये काम बहुत ही कम कीमत पर कर देती है

बीपीओ कैसे काम करती है –

आपको बीपीओ की फूल फॉर्म तथा बीपीओ क्या है ये तो पता चल गया होगा अब बात कर लेते है की बीपीओ कैसे काम करती है

असल में बीपीओ बड़ी कंपनियों के साथ एक कान्ट्रैक्ट साइन करती है बीपीओ कंपनियों के कस्टमर की समस्या सुनती है तथा उनका समाधान करने की कोशिश करती है और यदि कोई समाधान न निकले तो कंपनी को इसकी जानकारी देती है

कंपनिया अपने कुछ अधिकारी भी बीपीओ को देती है जिससे की बीपीओ के लिए काम करना और भी आसान हो जाता है बीपीओ के कई प्रकार होते है जिनके बारे में हम आगे जनेगे

BPO के प्रकार –

बीपीओ के मुख रूप से 3 प्रकार होते है जो अलग अलग तरीके से काम करते है बीपीओ के तिने प्रकारों का वर्णन हमने नीचे किए हुआ है

  1. Offshore Outsourcing – इसमे एक देश की कंपनी बीपीओ की मदद से किसी भी दूसरे देश में अपनी सेवाएँ दे सकती है इसमे दोनों देशों की कंपनियों के बीच में एक कान्ट्रैक्ट होता है
  2. Onshore Outsourcing – इस सर्विस को domestic outsourcing के नाम से जाना जाता है इसमे एक देश की कंपनी अपने ही देश में बीपीओ की मदद से सर्विस प्रधान करती है जैसे की airtel कंपनी के देश में हर जगह पर customer service उपलब्ध है
  3. Nearshore Outsourcing – इसमे एक बड़ी कंपनी अपनी service को customer को देने के लिए किसी आस पास की बीपीओ की कंपनी से कान्ट्रैक्ट करती है

बीपीओ में करियर | BPO Full Form in Hindi

अब तक आप समझ गए होंगे की बीपीओ क्या है और ये कैसे काम करता है तो अब बात करते है की बीपीओ में करियर बनाया जा सकता है या नहीं

तो आपको बता दे की यदि आप बीपीओ में जॉब करने की सोच रहे है इस बात को पहले decide करले की आप इसे short term के लिए करना चाहते है या long term के लिए करना चाहते है

आज के समय में जॉब न मिलने के कारण बहुत से लोग बीपीओ कंपनी में जॉब करते है जबकि उनके पास बहुत सी डिग्रीया भी होती है लेकिन जब उन्हे कोई अच्छी जॉब मिल जाती है तो वो इस काम को छोड़ देते है

क्योंकि इस जॉब में आपका फ्यूचर इतना अच्छा नहीं बन सकता इसलिए इस जॉब को लॉंग टर्म के लिए न देखे लेकिन शॉर्ट टर्म के लिए बीपीओ बहुत ही अच्छी जॉब है यदि आप पढ़ाई कर रहे है और साथ में जॉब भी करना चाहते है तब आप बीपीओ में जॉब कर सकते है

बीपीओ में सैलरी कितनी मिलती है –

जैसा की हमने आपको बताया है की बीपीओ में आपका अच्छा करीर नहीं बन सकता उसका एक कारण ये भी है बीपीओ में सैलरी कुछ खास नहीं मिलती बीपीओ कंपनियों में आपको शूरवात में 12000 सए 15000 तक सैलरी मिल जाती है और जैसे जैसे आपका experience बढ़ता है सैलरी भी बढ़ जाती है

Call center और BPO में क्या अंतर है –

लोग अक्सर कॉल सेंटर और बीपीओ को एक समझ जाते है जबकि ऐसा नहीं है ये दोनों एक नहीं है असल में कॉल सेंटर बीपीओ का ही हिस्सा होता है कॉल सेंटर में सिर्फ online तरीके से काम होता है जबकि बीपीओ में offline और online दोनों तरीकों से काम होता है इसके अलावा भी इनका work process भी काफी अलग अलग होता है

Conclusion –

तो दोस्तों अब तो आप जान गए होंगे की बीपीओ क्या होता है और बीपीओ की फूल फॉर्म क्या होती है तथा इसके अलावा भी हमे ये आशा है की आपको अपने हर सवाल का जवाब इस पोस्ट BPO Full Form in Hindi में मिल गया होगा यदि फिर भी आप हमसे कुछ पूछना चाहते है तो हमे कमेन्ट करें

Also read this-

1- BBA Full form in Hindi

2- MBA Full form in Hindi

3- BCom का फूल फॉर्म क्या है

4- PDF का फूल फॉर्म क्या होता है 

Leave a Comment