Inspirational Story in Hindi | विद्यार्थी के लिए प्रेरणादायक कहानी

नमस्ते दोस्तों स्वागत  है आपका हमारी वेबसाईट पर आज की इस पोस्ट Inspirational Story in Hindi में आपको कुछ इन्सपाइर कर देने वाले कहानिया मिलेगी

जो की आपको आपके लक्षय को हासिल करने के लिए प्रेरित करेंगी तथा आपको एक बहुत ही अच्छी सिख भी देंगी जो की आपके बहुत काम आएगी

1.एक पागल की कहानी | Inspirational Story in Hindi

एक बार की बात है एक गाँव में एक पागल रहता था जब भी वो नाचता तब बारिश हो जाती

गाँव वालों का उस पर बहुत विश्वास था जब भी गाँव वालों को बारिश की जरूरत पड़ती

तब वो उस पागल के पास जाते और उसे नाचने के लिए कहते और जैसे ही वो नाचता बारिश हो जाती

एक दिन उस गाँव में कुछ लड़के शहर से आए उन्होंने भी गाँव वालों से उस पागल के बारे में सुना

जिसे सुनकर वो चारों हसने लग गए वो चारों गाँव वालों का मजाक उड़ाने लग गए की ऐसा नहीं हो सकता

उन चारों ने गाँव वालों का मजाक उड़ाते हुए कहा की ऐसा तो हम भी कर सकते है सभी गाँव वाले उनकी ये बात सुनकर इकठे हो गए

फिर वो सब उस पागल के पास गए उन लड़कों ने उस पागल से कहा चलो अब देखते है की किसके नाचने से बारिश होती है

वो चारों लड़के वहाँ नाचने लग गए आधे घंटे बाद उन्मे से एक लड़का थक के बैठ गया

फिर थोड़ी देर बाद एक एक कर के वो चारों लड़के थक के बैठ गए लेकिन बारिश नहीं हुई

इसके बाद उन्होंने उस पागल को नाचने के लिए कहा उस पागल ने नाचना शुरू किया

सब लोग उसे नाचता देख रहे थे और देखते देखते पहेले एक घंटा बीत गया

फिर 2 घंटे बीत गए लेकिन उसने नाचना बंद नहीं किया वो ऐसे ही नाचता रहा और शाम हो गई

Also read this – 356+ Motivational lines in Hindi

ज्ञान देने वाली कहानी –

शाम होने के थोड़ी देर बाद ही लोगों को बादल गरजने की आवाज सुनाई दी

उन्होंने आसमान की और देखा तो आसमान में काले बादल छाए हुए थे

थोड़ी देर बाद ही बारिश शुरू हो गई ये सब देख के वो चारों लड़के हैरान रह गए

उन चारों लड़कों ने उस पागल से पूछा की ऐसा कैसे हो सकता है

आप ये सब कैसे कर लेते है तो उस पागल ने जवाब दिया की

मैं नाचते वक्त सिर्फ 2 चीजों का ध्यान रखता हूँ पहेली की मुझे पूरा विश्वास है

की जब मैं नाचूँगा तब बारिश होगी तथा दूसरी ये की जब तक बारिश नहीं होती मैं नाचता रहूँगा

सिख –

इस कहानी से हमे ये सिख मिलती है की हमे अपने काम को पूरे विश्वास के साथ करना चाहिए और तब तक करते रहना चाहिए जब तक आप अपने काम में सफल न हो जाए

2.एक बुद्धिमान मूर्तिकार की कहानी | Inspirational Story in Hindi

एक बार की बात है एक शहर में एक मूर्तिकर रहता था वो बहुत बुद्धिमान तथा महेनती था

वो बहुत ही शानदार मूर्तिया बनाया करता था एक दिन उसको शहर के Mayor ने घर बुलाया और उसे अपनी एक मूर्ति बनाने को कहा

मूर्तिकार पूरी महेनत से अपने काम में लग गया उसने मूर्ति बनाने का काम शुरू किया

एक हफ्ते के बाद उसने अपना काम पूरा किया जिसके बाद वो मैअर के पास गया

उसने  कहा की मूर्ति का काम पूरा हो चुका है आप चाहे तो इसे देख सकते है

तो मैअर मूर्तिकार के साथ मूर्ति देखने आ गया जब मैअर ने वो मूर्ति देखि

तो उसने कहा की ये मूर्ति बहुत ही शानदार बनी है

लेकिन इसमे एक कमी है तुमने इसकी नायक थोड़ी बड़ी बना दी है

जीवन आधारित मोटिवेशनल कहानी –

क्या तुम इसको थोड़ा और छोटा नहीं कर सकते मैअर की ये बात सुनकर मूर्तिकार बिना उससे कुछ भी कहे

अपने बैग से मूर्ति को ठीक करने के लिए समान निकालने के जाता है और साथ में वो कुछ मिटी भी अपने हाथ में रख लेता है

उसके बाद वो मूर्ति की नाक को सही करने की ऐक्टिंग करने लगता है वो जान बुझ के उस मूर्ति की नाक पर हथोड़ी मार रहा होता है और हाथ में रखी हुई मिटी को जमीन पर गिरा रहा होता है

मैअर को ऐसा लग रहा था की मूर्ति कर मूर्ति की नायक को छोटा कर रहा है फिर थोड़ी देर बाद ये नाटक करने के बाद मूर्ति कार मैअर को मूर्ति से थोड़ा दूर खड़ा करता है और फिर पूछता है

की क्या अब आपको इसकी नाक ठीक लग रही है मैअर कहता है की हाँ अब ये बिल्कुल ठीक लग रही है अब इसकी नायक सही लग रही है

असल में पहले मैअर मूर्ति के बहुत पास खड़ा था और मूर्ति के नीचे से देखने पर उसकी नायक उसे बड़ी लग रही थी इसलिए मूर्तिकार ने उसे मूर्ति से थोड़ा दूर खड़ा कर दिया

वो चाहता तो मैअर को समझा सकता था या फिर उससे इस बात पर बहस सकता था लेकिन उसने ऐसा नहीं किया उसने अपने दिमाग का इस्तमाल किया

सिख –

हमे इस कहानी ये सिख मिलती है की हमारी जिंदगी में बहुत से ऐसे लोग मिलती है जो हमारे काम को गलत कहते है

हमे उनसे बहस करने की जगह अपना Result दिखाना चाहिए तथा उन्हे समझाने की जगह अपने काम पर ध्यान देना चाहिए

3.एक गुरु और शिष्य की कहानी | Inspirational Story in Hindi

एक बार की बात है की एक गाँव में एक बहुत ही महान गुरु रहते थे तथा उनका एक प्रिय शिष्य भी था

जो की उनसे शिक्षा लिया करता था

एक दिन शिष्य ने गुरु से कहा की मैं आपसे कुछ मांगना चाहता हूँ

गुरु ने उससे पूछा की तुम मुझसे क्या मांगना चाहते हो

उस लड़के ने कहा की मैं अपने माँ बाप के सारे सपने पूरा करना चाहता हूँ

जिसके लिए मुझे बहुत से पैसे चाहिए क्या आप मुझे रातों रात अमीर बना सकते है

जो ये लड़का मांग रहा था वो हर एक बच्चे का सपना होता है

इसलिए गुरु उसकी मांग पूरी करने को तैयार हो गया

उन्होंने कहा की मेरे पास एक ऐसी चीज है जिससे मैं तुम्हें रातों रात अमीर बना सकता हूँ

तो शिष्य ने पूछा की वो क्या चीज है

गुरु उस लड़के को एक नदी के किनारे ले जाता है

जहां पर बहुत सारे पथर होते है शिष्य गुरु से पूछता है की गुरुजी हम यहाँ क्यों आए है

तो गुरु बताता है की इस जगह पर एक ऐसा पथर है

जो किसी भी लोहे की चीज को सोने में बदल सकती है

अपने गुरु की इस बात को सुनकर वो शिष्य बहुत हैरान हो गया

उसने अपने गुरु से पूछा क इतने सारे पथरो में से मैं उस पथर को कैसे खोज सकता हूँ

तो गुरु ने कहा की वो पथर बाकी पथरो की तुलना में थोड़ा अलग है

जैसे ही तुम उसे अपने हाथ में लोगे तो वो गरम हो जाएगा

विद्यार्थी के लिए प्रेरणादायक कहानी –

इतना कह कर गुरु जी वहाँ से चले गए और शिष्य अपने काम पर लग गया

वो हर एक पथर को उठाकर देखने लगा की

कौन सा पथर गरम होता है जो भी पथर गरम नहीं होता

वो उसे नदी में फेक देता ताकि उसके पास फिर से वो पथर न आ जाए

ऐसे ही करते करते उसे पूरा दिन बीत गया लेकिन उसे वो पथर नहीं मिला

फिर वो रोज वहाँ पथर की तलाश करने आता लेकिन उसे कभी पथर नहीं मिला

ऐसा ही करते करते उसे 2 महीने हो गए

अब उसकी ये आदत बन चुकी थी की वो पथर को उठाकर सीधा नदी में फेक देता

वो पथर को अच्छे से देखता भी नहीं था एक दिन वो पथर उसके हाथ में आ गया

लेकिन अपनी आदत से मजबूर उसने वो भी नदी में फेक दिया

नदी में पथर फेक देने के बाद उसे ये एहसास हुआ की

जो पथर उसने फेक दिया वो थोड़ा सा गरम था

उसे यकीन हो गया की ये वही पथर था जिसे वो पिछले 2 महीनों से ढूंढ रहा था

लेकिन वो अब कुछ नहीं कर सकता था क्योंकि वो उस पथर को अब नदी में फेक चुका था जहां उसने बाकी सारे पथर फेक दिए थे

सिख –

इस कहानी से हमे ये पता चलता है की हमे अपने हर दिन को महत्व देना चाहिए

यदि हम ऐसा नहीं करती और अपने हर दिन को हल्के में लेते है

तो हमे जब किसी दिन कोई मौका (opportunity) मिलती है

तो हम उसे भी हल्के में ले लेते है और उसे खोने के बाद हमे उसका पछतावा होता है

Conclusion –

आशा करते है दोस्तों की आपको हमारी ये पोस्ट Inspirational Story in Hindi पसंद आई होगी और आपको इसमे दी गई कहानिया पसंद आई होगी और उनसे कोई अच्छी सिख मिली होगी यदि आपको ये कहानिया (Hindi story) पसंद आई है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें

Also Read This –

1. प्रेरणादायक कहानिया हिंदी में 

2.Real life inspirational stories in Hindi

3.Short Motivational Stories in Hindi

4.Heart Touching Motivational stories in Hindi

Leave a Comment