Motivational Stories in Hindi | 4 कहानिया जो आपको सफल बना देंगी

नमस्ते दोस्तों स्वागत है आपका हमारी इस वेबसाईट में इस पोस्ट Motivational Stories in Hindi में आपको जिंदगी की सिख देने वाली बहुत सी कहानिया पढ़ने को मिलेगी जिन्हे पढ़कर आपकी जिंदगी बदल जाएगी

1.एक कुत्ते की कहानी | Motivational Stories in Hindi

एक बार की बात है एक गाँव में एक कुत्ता रहता था वो बहुत ही उदास रहता था क्योंकि वो गाँव के बाकी कुत्तों के मुकाबले बहुत छोटा और कमजोर था

जिसके कारण दूसरे कुत्ते उसे हर दिन तंग किया करते थे एक दिन वो  नदी किनारे एक पेड़ के नीचे बैठा हुआ था और सोच रहा था

की वो तो ये छोटी सी नदी भी पार नहीं कर सकता कुत्ता पेड़ के नीचे बैठ के ये सब सोच ही रहा था की अचानक वहाँ एक बंदर आ गया

बंदर ने देखा की कुत्ता पेड़ के नीचे उदास बैठा हुआ है उसने कुत्ते से उसकी उदासी का कारण पूछा तो कुत्ते ने उसे सारी बात बताई बंदर ने कुत्ते की बात सुनने के बाद कहा की बस इतनी सी बात मैं तुम्हें अभी इस नदी को पार करवा देता हूँ

जीवन आधारित मोटिवेशनल कहानी –

फिर बंदर ने उस कुत्ते को अपनी पीठ पर उठाया और नदी पार करने लगा बंदर बहुत ही शक्तिशाली था इसलिए उसनेआसानी से कुत्ते को उठा लिया

जब बंदर ने आदि नदी पार कर ली तब उसने डूबने का नाटक किया उसने कुत्ते से कहा की यहाँ पर पानी बहुत गहरा है अब हम नहीं बच पाएंगे

कुत्ता बहुत ही डर गया लेकिन उसने किसी तरह अपने डर पर काबू पाया और अपने पंजों की मदद से तैरता हुआ

नदी को पार कर गया बंदर भी उसके पीछे पीछे तैर कर नदी के दूसरे किनारे आ गया

कुत्ते को ये बात समझ आ गई की बंदर ने ये सब जान भुज कर किया उसने बंदर का शुक्रिया किया

अब उसे किसी का भी डर नहीं था उसे अपने डर पर काबू पाना आ गया था

सिख –

इस कहानी से हमे ये सिख मिलती है की कोई भी काम नामुमकिन नहीं होता हमे बस अपने डर पर काबू पाकर उस काम को शुरू करना चाहिए तभी हम उस काम को पूरा कर सकते है

2.कछुए की कहानी | Motivational Stories in Hindi

एक बात की बात है एक जंगल में सभी जानवरों ने एक रेस की प्रतियोगिता शुरू की जिसमे शेर और खरगोश जैसे जानवर भी शामिल थे

उसे रेस में एक कछुए ने भी भाग लिया था कछुए को वहाँ पर देख कर सभी उसपर हसने लगे क्योंकि कछुआ बहुत धीमा था उन्होंने सोच की ये क्या रेस जीतेगा

लेकिन कछुए ने उन सभी की बातों पर ध्यान नहीं दिया और रेस में भाग लिया रेस शुरू होने पर शेर और खरगोश तेज गति से सबसे आगे निकल गए

कछुआ अपनी धीमी गति के कारण सबसे पीछे था रेस जंगल के बीचों बीच खत्म होनी थी

जहां तक का रास्ता बहुत लंबा था शेर और खरगोश आधे रास्ते तक जाने के बाद काफी थक गए थे जिसके कारण उन्होंने रेस वहीं छोड़ दी लेकिन कछुए ने रेस जारी रखी

अपनी धीमी गति से कछुए ने रेस को पूरा कर लिए और उसे जीत लिया सभी जानवर ये देख के बहुत हैरान थे की कछुआ ये रेस कैसे जीत सकता है

सिख –

इस कहानी से हमे ये सिख मिलती है की हमे किसी को भी कम नहीं समझना चाहिए क्योंकि कुछ पता नहीं होता कब हमे कोई पीछे छोड़ दे

3.सफलता की सच्ची कहानी | Motivational Stories in Hindi

ये कहानी उन लोगों के लिए है जिन्हे लगता है वो अपनी जिंदगी में सफल नहीं हो सकते इस कहानी में एक किसान होता है जो की अपने खेत में फसल बीजता है

लेकिन उसकी फसल कभी भी नहीं उगती और जब फसल उगती है तब उसे कीड़े लग जाते है वो किसान इस बात से बहुत परेशान रहता था उसे लगता था की

वो अपने जिंदगी में कभी भी सफल नहीं हो सकता फिर एक दिन उसका दोस्त बहुत सालों बाद उसके घर आया उसके दोस्त ने उसे परेशान देखकर उससे उसकी परेशानी का कारण पुच्छा

उसने अपने दोस्त को सारी बात बताई किसान की बात सुनने के बाद उसके दोस्त ने उसे एक संत के पास जाने को कहा

वो संत बहुत ही बुद्धिमान और समझदार थे किसान के दोस्त ने कहा की वो तुम्हें तुम्हारी परेशानी से बाहर निकाल देंगे

अपने दोस्त की बात सुनकर किसान अगले दिन उस संत से मिलने के लिए गया संत को मिलने के बाद किसान ने संत को सारी बात बताई और पूछा की मैं सफल कब हो सकता हूँ

संघर्ष से सफलता की कहानी –

तो संत ने किसान से कहा की तुम हर दिन एक बीज लेकर अपने खेत में बीज देना और उसकी लगातार देखबाल करना

किसान ने संत की बात सुनने के बाद ऐसा ही किया वो हर दिन एक बीज को खेत में बीज देता और उसकी अच्छे से देखरेख करता

उस बीज को पानी देता और कीड़ों से बचा कर रखता ऐसा करते करते एक महिना बीत गया किसान ने देखा की उसने जो बीज अपने खेत में बीजे थे उन्मे से कुछ में से पौधे निकल आए है

उन पौधे को देखकर किसान बहुत खुश हुआ उसने अपना काम जारी रखा

वो हर दिन एक बीज खेत में बीज देता और उसकी अच्छे से देखबाल करता और देखते देखते किसान के सारे खेतों में फसल उग गई

सिख –

इस कहानी से हमे ये सिख मिलती है की यदि हम अपनी जिंदगी में सफल होना चाहते है तो हमे निरंतर बिना रुके काम करना होगा जो भी काम हम करना चाहते है

उस को छोटे छोटे भागों में बाटकर उसे लगातार करने से हम उस में सफल हो सकते है

4.दादा और पोते की कहानी | Motivational Stories in Hindi

एक बार की बात है एक गाँव में एक लड़का रहता था वो बहुत ही होशियार और मेहनती था वो अपनी जिदंगी में सफल बनना चाहता था लेकिन उसे सफल बनने का तरीका नहीं पता था

एक बार स्कूल की छूटियों में वो अपने दादा जी के पास रहने के लिए दूसरे गाँव में चला गया उसने अपने दादा जी के साथ बहुत अच्छा समय बिताया वो उनके साथ पूरा गाँव घूमता और कई खेल खेलता

फिर एक दिन उसने अपने दादा जी से बातों ही बातों में कहा की वो अपनी जिदंगी में बहुत सफल बनना चाहता है लेकिन उसे नहीं पता की वो सफल कैसे बने

उसने अपने दादा जी से पुच्छा की क्या आप मुझे बता सकते है की जिंदगी में सफल कैसे बनते है तो उसके दादा जी ने मुस्करा के कहा हाँ मैं तुम्हें बता सकता हूँ

इतना कहकर दादा जी उस लड़के को अपने साथ एक पौधे की दुकान में ले गए जहां पर उन्हे दो एक जैसे पौधे खरीदे

उन्होंने घर आकर एक पौधे को घर के अंदर घमले में लगा दिया और दूसरे पौधे को घर के बाहर खुली जमीन में लगा दिया

मोटिवेशनल स्टोरी फॉर स्टूडेंट्स तो वर्क हार्ड –

पौधे लगाने के बाद दादा जी ने अपने पोते से पुच्छा की तुम्हें क्या लगता है की कौनसा पौधा ज्यादा अच्छे से बड़ा होगा तब लड़के के जवाब दिया की

जो पौधा हमने घर के अंदर रखा है वो अच्छे तरीके से बड़ा होगा क्योंकि उसे घर के अंदर बारिश और आँधी जैसे परेशानियों का सामना नहीं करना होगा

दादा जी ने कहा तो चलो ठीक है देखते है की कौनसा पौधा ज्यादा अच्छे से बढ़ता है

फिर कुछ दिनों बाद वो लड़का अपने घर वापिस चला गया घर जाकर भी वो उन पौधे के बारे में सोच रहा था

कुछ सालों बाद गर्मी की छूटियों में वो फिरसे अपने दादा के घर आया उसने दादा जी से पुच्छा की मैंने कुछ सालों पहले आपसे एक सवाल किया था

उसका आपने जवाब नहीं दिया तो दादा ने कहा की पहले हम उन पौधे को देख लेते है की कौनसा ज्यादा अच्छी तरह से बड़ा हुआ है

जीवन को सीख देने वाली मोटिवेशनल कहानी –

वो दोनों पौधे को देखने के लिए घर के अंदर गए तो लड़के ने देखा की घर के अंदर लगाया पौधा काफी बड़ा हो गया फिर वो घर के बाहर वाले पौधे को देखने के लिए गए

वहाँ जाकर उस लड़के ने देखा की वो पौधा घर में रखे हुए पौधे से भी बड़ा हो गया है वो आ एक पेड़ बन चुका है जिसके शकाएँ बहुत मजबूत है

उसने अपने दादा जी से पुच्छा की ऐसा कैसे हो सकता है की ये पौधा घर में रखे हुए पौधे से भी ज्यादा बड़ा हो गया

तो दादा जी ने जवाब दिया की इस पौधे ने अपने जीवन में बहुत सी परेशानियों का सामना किया है जैसे की बारिश,तेज धूप और आँधी

इन सभी चीजों का सामना करने के कारण अब ये बहुत मजबूत हो गया है लेकिन उस घर में रखे हुए पौधे ने इन सभी चीजों का सामना नहीं किया

जिसके कारण वो अभी भी बहुत कमजोर है और अच्छी तरह से बड़ा नहीं हो पाया है

सिख –

हम सब अपनी जिंदगी में सफलबनना चाहते है लेकिन हम अपनी जिंदगी में आने वाले मुश्किलों का सामना करने से डरते है जिनका सामना कीये बिना हम अपनी जिंदगी में कभी भी सफल नहीं हो सकते

इसलिए हमे अपनी जिंदगी में आने वाली सभी मुश्किलों का डटकर सामना करना चाहिए   

Conclusion

यदि आपको ये कहानिया पसंद आई हो तो हमे कमेन्ट में जरूर बताए इसके अलावा यदि आपके पास भी कोई ऐसी Motivational कहानी है

जिनको पड़कर बहुत से लोगों को प्रेरणा मिलेगी और वो अपनी जिंदगी में सफल बन पाएंगे तो आप हमे वो भी प्रधान कर सकते है हम उसे अपनी इस पोस्ट में जरूर शामिल करेंगे

कहानियों को प्रधान करने के लिए आप हमारा Telegram group जॉइन कर सकते है जिसमे आपको बहुत से तथ्य भी पढ़ने को मिलेगे

Also Read This –

1. प्रेरणादायक कहानिया हिंदी में 

2.Real life inspirational stories in Hindi

3. Motivational Stories in English for students

4.Heart Touching Motivational stories in Hindi

5.Copyright Free Motivational Stories in Hindi 

Leave a Comment